जिले के बारे में

कानपुर देहात चारों दिशाओं में पड़ोसी जनपदों कानपुर नगर, हमीरपुर, जालौन, औरैया तथा कन्नौज से घिरा हुआ है। यमुना नदी कानपुर देहात व जालौन को विभाजित करती है। जिले का पुनः नामकरण कानपुर देहात दिनांक 30/07/2012 को हुआ। इससे पूर्व दिनांक 1-7-2010 को कानपुर देहात जिले का नामकरण रमाबाई नगर किया गया था। यह जनपद जिला कानपुर नगर से सन 1977 में पृथक कर कानपुर देहात के नाम से सृजित किया गया था। जनपद में रनियाँ से जैनपुर तक़ विशाल औद्योगिक क्षेत्र उपलब्ध है।

नाम कानपुर अपने मूल नाम कान्हापुर का एक रूपांतरित संस्करण है, जो दो शासकों सचेंडी के हिंदू सिंह और रामपुर के घनश्याम सिंह द्वारा दिया गया है। ब्रिटिश शासक होब्सन जॉनसन ने शब्द को उच्चारण करना मुश्किल पाया और उन्होंने इसे कानपुर में बदल दिया। बाद में यह कानपुर के रूप में अपने नाम के करीब आया। कानपुर वर्ष 1 9 77 में कानपुर-नगर और कानपुर-देहात दो जिले में विभाजित हुआ। वर्ष 1 9 7 9 में फिर से मिल गया। फिर 1 9 81 में अलग हो गया। अधिसूचना संख्या 1857/1-5-2010-114-2010-Ra0-5, दिनांक 1-7-2010 को जिला का नाम बदलकर रामबाई नगर रखा गया। जिला का नाम बदलकर कानपुर देहात के रूप में अधिसूचना संख्या 9 46 / 1-5-2012-123 / 2012-Rev -5,  दिनांक 30 जुलाई, 2012 को रखा गया।